meditation guide in hindi-meditation in hindi-मेडिटेशन के लाभ

meditation guide in hindi-meditation in hindi-मेडिटेशन के लाभ

दोस्तों आज हम मेडिटेशन इन हिंदी  के बारे में उन सभी महत्वपूर्ण जानकारी को प्राप्त करने के प्रयाश करेंगे जो आपके लिए और आपके जीवन में एक पॉजिटिव बदलाव लाने के लिए बहुत अहम् शाबित हो सकता हैं ।

इसलिए मैं आपसे निवेदन करता हूँ की इस लेख (meditation hindi)को पूरा जरूर पढ़े क्योंकि इसमें मैंने बहुत सी ऐसी जरुरी बातें बताने के प्रयाश किया है जो आपके लिए हो सकता है बिलकुल नया हो ।

आज के समय में जिंदगी इतना वयस्त होता जा रहा है की थोड़े देर के लिए ही सही हम अपने शरीर के साथ – साथ अपने दिमाग यानी मस्तिष्क को भी रिलैक्स करने का मौका नहीं दे पा रहे हैं जिसका नतीजा हमे बीमार शरीर के रूप में भुगतना पड़ सकता हैं ।

इसीलिए इन सभी से छुटकारा पाने के लिए मात्र एक सही और सरल तरीका हैं जिसे हम meditation के रूप में जानते हैं । यदि हम एक दिन में कुछ समय इसके लिए भी निकाले तो हमे इससे बहुत लाभ मिल सकता हैं ।

यदि आप तनाव में हैं या फिर आपके मन में किसी प्रकार की अशांति है या फिर मन उदाश रहता हैं तो आप मेडिएशन का सहारा ले सकते हैं क्योंकि मेडिएशन दिमाग को शांत करने में काफी मददगार है ।

इसलिए मेडिएशन को करने के बाद जब इसका पॉजिटिव असर आपके ऊपर पड़ेगा तो सारी परेशानी भी आसान लगने लगेगी और साथ में दिमाग से nagetive भी दूर जाने लगेगी जिससे आप शांत और प्रशन्न महसूस करेंगे ।

इसलिए इसे जागरूक करने के लिए पुरे विश्व में हर साल 15 may को world meditation day मनाया जाता हैं तो चलिए इससे जुडी सभी तरह की जानकारी को जानने की कोशिस करते हैं ।

शीर्षासन  अनुलोम – विलोम 

what is meditation in hindi-मेडिटेशन कैसे करें हिंदी में

बहुत से लोग ऐसे है जो मैडिटेशन को कसरत के रूप में देखते हैं जबकि या बिलकुल भी नहीं हैं । कसरत अथवा योग शरीर को स्वस्थ रखने के लिए किया जाता हैं जबकि meditation एक रह से सिर्फ दिमाग को स्वस्थ रखने में सक्षम हैं

इसलिए meditation को दिमाग का कसरत भी कहा जाता हैं जिसको करने के लिए विभिन्न तरिके है जिसके बारे में हम आगे बात करेंगे । मैडिटेशन का वास्तविक अर्थ एकाग्र भाव से ध्यान लगाना होता हैं जिसका मुख्य उदेस्स्य किसी मनुष्य को आत्मिक शान्ति प्रदान करना है

ध्यान एक प्रकार की क्रिया हैं जिसमे मनुष्यअपने मन की चेतना को एक विशेष अवस्था में लेन की प्रयाश करता हैं अथार्त ऐसा करने से मन शांति मिलने के साथ आंतरिक ऊर्जा या जीवन शक्ति का निर्माण भी हो सकता हैं जिससे हमे आने वाले दिनों जीवन खुस्मय होने जैसा एहसास होने लगता हैं

इसके मदद से कोई भी मनुष्य अपने उद्देस्य पर ध्यान केंद्रित करके अपने लक्ष्य को मैडिटेशन की मदद से समय से पहले हासिल कर सकता हैं और मैं आपको बता दू की यह कोई नया तरीका नहीं हैं बल्कि इसे युगो – योगो से लोग करते आ रहे हैं

  • types of meditation in hindi-मेडिटेशन कैसे करें

लोगों के परेशानी के आधार पर मैडिटेशन करने की प्रक्रिया भी अलग होती हैं जैसे की हमारे आस – पास में ऐसे कई तरह के लोग होते हैं जो कठिनाई का सामना करके आगे बढ़ जाते हैं और कई लोग लक्ष्य को पाने के लिए बहुत परेशानी झेलते हैं

कई लोगो को परेशानी झेलने की क्षमता ही नहीं होती हैं जिसमे वे पीछे हट जाते है लेकिन इन सभी लोगो के लिए मैडिटेशन करने के तरीका अलग है परन्तु सिद्धांत केवल एक ही हैं  मन को शांति प्रदान करना

ताड़ासन  व्रजासन 
  • vipassana meditation in hindi-meditation guide in hindi-meditation in hindi-मेडिटेशन के लाभ

विपश्‍यना ध्‍यान को हजारों साल से किया जा रहा है जिसे योगी ज्यादातर उपयोग करते हैं लेकिन इसे भगवान् बुध ने सरलतम पद्धति के द्वारा विपश्‍यना मैडिटेशन कैसे किया जाता हैं इसके बारे में लोगों को बताया था । यह मेडिशन (meditation for beginners in hindi)आपको खुद के बारे में जानने के बारे में काफी मदद करता है ।

Vipassana meditation के प्राचीन ध्यान है जिसका मतलब ध्यान करते वक़्त खुद को जानकार लौट जाना होता हैं । यह आत्म्सुद्दी और आत्मनिरीक्षण के सबसे उपयुक्त पद्धति है जिसे बहगवां बुध ने भी अपनाया था और बधुत्व को प्राप्त किया था ।

यह प्रणायाम और साक्षीभाव से मिलाजुला योग है जिसमे स्वांस के महसूस करने के बारे में बताया जाता हैं अथार्त सांस के आवागमन को महसूस कर उसके प्रति सहज रहने का अभ्यास कराया जाता हैं । इसके मुख्य पांच सिद्धांत है जिसे अपनाना जरुरी हैं , चोरी न करना , जिव की हत्या से बचना , ब्रह्मचर्य का पालन , अप्सब्द का प्रयोग न करना , नशा न करना आदि .

आप इसे सुबह या शाम को आधा से एक घंटा के लिए कर सकते हैं यदि आप दोनों वक़्त करते हैं तो आपको लाभ का आभाष जल्द होगा । सबसे पहले ध्यान की अवस्था में बैठे और साँस के आवागमन की प्रक्रिया पर ध्यान दे जैसे की कब सांस ले रहे है कब छोड़ रहे हैं कितना वक़्त लगा , कब रुका आदि के बारे में सोचे ।

यह सबसे प्रभिक प्रक्रिया हैं इसमें नाक के द्वारा साँस के आदान प्रदान को महसूस करना होता हैं फिर इसके बाद कौन सा विचार आया और गया कब आपको क्रोध आया आदि में शामिल नहीं होकर केवल अपने दिमाग , शरीर और मन के ऊपर ध्यान दे ।

पद्मासन  हलासन 
  • Tratak Meditation-( त्राटक ध्यान )meditation guide in hindi-meditation in hindi-मेडिटेशन के लाभ

त्राटक जिसको हम केंद्रित ध्यान के रूप में भी जानते हैं । इसका ध्यान करने के लिए हमारे शरीर के पांच इन्द्रिया में से किसी एक का चुनाव किया जाता हैं और उसी एक इन्द्रिया से ध्यान लगाने की प्रक्रिया की सुरुवात की जाती हैं ।

जैसे मान लीजिये किसी को ध्यान लगाने में कठिनाई हो रही है यदि उसके सामने किसी दिया या लैंप रखा दिया जाये और उसे एकटक देखकर ध्यान लगाने को कहा जाए तो ध्यान लगाना और भी आसान बन जाता हैं और इस तरह एकाग्रता की क्षमता भी बढ़ जाती हैं ।

  • sahaja yoga meditation – सहज योग द्वारा परेशानी कैसे दूर करे

सहज योग का मुख्य अर्थ यानी की ” सह ” मतलब आपके साथ और ” ” मतलब जन्मा हुआ होता है । इस योग द्वारा ध्यान जगाने से मिलना या जुड़ जाना जैसा अनुभव होता हैं जो सीधे परमात्मा की तरफ इशारा करता हैं ।

इस तरह का योग आत्म – जागरूक पैदा करने के लिए किया जाता हैं । इसके करने से कुंडली जागृत हो जाती हैं और वह मनुस्य खुद को परमात्मा से जुड़ा हुआ महसूस करता हैं ।

  • third eye meditation in hindi– ( थर्ड ऑय मैडिटेशन )

भगवान् शिव की तरह ही हम मनुस्य के अंदर भी तीसरी आँख है जो हमे कभी महसूस नहीं होती हैं परन्तु हम ध्यान के द्वारा इसे जागृत कर सकते हैं । हमारी तीसरी आंख तभी काम करती हैं जब हमारा मन शांत और चित हो ।

ऐसा तभी संभव हैं जब हमारा मन धान की अवस्था में रहेगा और आपको बता दे की मनुस्य का तीसरा आंख ऊर्जा का केंद्र माना जाता हैं इसलिए इस मैडिटेशन करने का प्रमुख वजह तीसरी आँख को जागृत कर शरीर में पर्याप्त ऊर्जा का संचालन करना होता हैं ।

चक्रासन  धनुरासन 

ध्यान के चमत्कारिक अनुभव

ध्यान के अनुभव बहुत ही निराले हैं । जब मन मरता है तब वह खुद को बचाने के लिए पूरा प्रयाश करता हैं यदि जब विचार खत्म होने लगते हैं तब मन में बहुत सारे विचार आते हैं ।

जो लोग ईमान दारी के साथ ध्यान लगाते हैं उन्हें मन और मस्तिष्क की परवाह नहीं होती हैं अथार्त बहकावे में नहीं आते हैं  लेकिन जो मन के बहकावे में आते है वे कभी भी ध्यान नहीं लगा सकते हैं ।

वैसे तो सुरुवात में ध्यान करने वाले लोगो को अनुभव अलग – अलग होता हैं क्योंकि उसके शरीरिक रचना और मानसिक बनावट पर निर्भर करता ही की उस व्यक्ति की सोच कैसी हैं उसका मानसिक स्टार कैसा हैं आदि ।

लेकिन जैसे ही समय बीतता हैं और ध्यान के एक निश्चित लेवल पर पहुंचते ही सभी तरह के लोगो का अनुभव एक जैसा हो जाता हैं जिसके बारे में हम आगे बात करने वाले हैं ।

पहला अनुभव 

ध्यान के दौरान कुछ लोगो को एक जैसा या फिर अलग – अलग कुछ दिखाई देता हैं । पहले भौहों के बीच आज्ञा चक्र में ध्यान लगाने पर अंधेरा दिखाई देने लगता है फिर इसके बाद  किसी को नीला रंग या पीला रंग दिखाई देता हैं लेकिन इस दौरान सबखुछ अँधेरा जैसा परतीत होता है ।

दूसरा अनुभव 

फिर धीरे – धीरे यह रंग का अकार गोलाकार होने लगता हैं । एक बात बता दू की हमारे द्वारा देखा गया यह रंग दिस्य जगत का रेप्लेक्शन भी हो सकता हैं या फिर हमारे शरीर से निर्मित ऊर्जा भी हो सकता हैं ।

गोले के अंदर गोले बनते और खत्म होते रहते हैं जो कुछ देर के पश्चात अदृश्य हो आते हैं फिर वहीँ पर एक और नया गोला दिखने लगता हैं और यह परिक्रिया निरंतर चलता रहता हैं कभी ख़त्म नहीं होता  हैं ।

कुछ ज्ञानी इन दोनों रंग का विस्तार से बताते हुए कहता हैं की नीला रंग जीवात्मा का रंग होता हैं और पीला रंग उस जीवात्मा को प्रकाश प्रदान करता हैं । ध्यान के समय इस तरह के गले दिखना आज्ञा चक्र का जागृत होने का लक्षण माना जाता हैं ।

कपालभाति 

लाभ –meditation guide in hindi-meditation in hindi-मेडिटेशन के लाभ

इसका असर इतना प्रभावी है की कुछ दिन के बाद मन से दुःख , चिंता , तनाव समाप्त हो जाती हैं जिससे वह शांति का अनुभव करता हैं । इसके अलावा मन आत्मविश्वाश से परिपूर्ण हो जाता हैं जिसके वजह से कोई भी असाधारण काम सरलता से किया जा सकता हैं ।

इस प्रकार लगातार भुकुटि पर ध्यान लगाते रहने से कुछ महीनो के अंदर उस वयक्ति को भुत , भविस्य , वर्तमान तीनो प्रत्यक्ष रूप से दिखाई देते हैं । ऐसे वयक्ति को भविस्य की घटना का पूर्वानुमान होने लगता हैं ।

इससे पता चलता है की उसकी छठी इन्द्रिय जागृत हो चुकी है और यह चैवानी भी है की अब सतर्क  रहने की जरुरत हैं । ऐसे समय औरर आगे जाने से पहले लोगो से संपर्क समाप्त करने की हिदायत दी जाती हैं ।

ध्यान कैसे करे -how to do meditation in hindi

ध्यान या मैडिटेशन का लाभ तभी प्राप्त होगा जब इसे अच्छे तरिके से किया जाए यह आपके शरीर के साथ मानसिक स्तर को भी बेहतर बनाता है । इसलिए निचे इसे कैसे किया जाता हैं इसके बारे में कुछ सरल तरीका बताया गया जिसे आप जरूर पढ़े ।

एक जरुरी बात बता दू की meditation (मैडिटेशन इन हिंदी  )करने के तरिके बहुत सारे हैं इसलिए यदि आपको रूचि किसी ख़ास तरिके के ध्यान में हैं तो इसके लिए किसी ट्रेनर की मदद जरूर ले और इसके करने के सरम विधि निचे दिए गए हैं ।

  • सबसे पहले मैडिटेशन के लिए किसी सांत स्थान का चुनाव करे ।(how to do meditation at home in hindi)
  • स्थान इ साथ समय का चुनाव भी बहुत जरुरी हैं इसलिए ज्यादातर लोग सुबह का समय चुनते हैं आप चाहे तो कोई सा भी समय चुन सकते हैं जो आपके सुविधा के मुताबिक हो
  • मैडिटेशन के सुरुवात से पहले अपने शरीर को स्ट्रेस करे जो 30 से 1 मिनट तक कर सकते हैं जिससे आपका शरीर सही मोड़ में आ जाता हैं ।
  • मेडिटेशन के लिए  चौकड़ी लगाकर, कमर सीधी करके बैठना सही अवस्था मानी जाती है। इससे आपको ध्यान फोकस करने तथा स्वसन प्रक्रिया बेहतर हो जाती हैं ।सीने को चौड़ा रखें और आलथी- पालथी लगाकर बैठें। अपना सिर सीधा रखें और आंखें बंद कर लें।
  • अब  धीरे- धीरे सांस लें और छोड़ें और अपनी श्वसन क्रिया पर सिर्फ ध्यान लगाएं । सभी गहरी सांस को गिनती करते हुए यह प्रक्रिया दोहराते जाए एवं उसकी गति को बैलेंस बनाने की कोशिस करे ।
  • इस समय अपने दिमाग में कोई भी फालतू की बाते नहीं सोचे और इससे बचने के लिए उलटी गिनती गिने या ध्यान को एकग्रता में लाये ।
  • ध्यान से बाहर निकलते समय एक दम से आंख बिलकुल ना खोले
ध्यान के फायदे 

मैडिटेशन एक ऐसी प्रक्रिया हैं जिससे आप अपने जीवन के विभिन्न समस्या के निवावरण पा सकते हैं यदि जरुरत है तो इसे सही तरिके से करने की , तो चलिए अब इसके अनेक फायदे को भी जान लेते हैं । (ध्यान के लाभ )

तनाव 

वैसे तो सभी जानते हैं की meditation करने से सब पहले हम तनाव मुक्त हो जाते हैं हमारे अंदर से अशांति , चिंता , हीनभावना आदि बाहर निकल जाती हैं और साथ में असंतुलन हार्मोन को ठीक कर हमारे शरीर को तरोताजा कर देता हैं ।

ख़ुशी 

निरंतर ध्यान करने से गुस्सा करने की आदत धीरे – धीरे काबू में आ जाती हैं और हमे खुसी का अनुभव होने लगता जिससे हम तनावमुक्त हो जाते हैं । ऐसा रोजाना करने से इमोशन काबू में आ जाता हैं जिससे हमारे आस पास का माहौल पॉजिटिव हो जाता हैं ।(meditation kaise kare in hindi)

स्किन पर असर 

meditation आपके सरीर के कोशिका तथा इन्द्रियों को कंट्रोल कर मांसपेशियों को आराम देने में मदद करता हैं जिससे नयी कोशिका का निर्माण होता हैं और हमारा शरीर क्रियाशील बन जाता हैं । चेहरे पर पाई झुर्रिया तनावमुक्त होने के वजह से खत्म हो जाती हैं ।

ब्लड प्रेस्सर 

जाहिर है की हमारा शरीर जब भी चिंता या तनाव का शिकार होता है तब उसका सीधा असर हमारे ब्लड प्रेशर पर पड़ने लगता हैं इसलिए ध्यान लगाकर इस समस्या से भी छुटकारा पा सकता हैं ।

मानसिक स्वस्थ में सुधार 

आज के समय में हर दूसरा वयक्ति मानसिक पीड़ित हैं इस वजह से हमारा मन स्थिर रहना तो दूर एकाग्र भी नहीं रहता हैं इसलिए meditation के लिए कुछ समय देकर इसे बड़े आसानी से बिना कोई दवा के ठीक किया जा सकता हैं ।(meditation guide in hindi-meditation in hindi-मेडिटेशन के लाभ)

meditation के समय सावधानियाँ

किसी भी चीज से अच्छे परिणाम पाने के लिए आपको कुछ चीजे कुर्बान करनी होती है इसलिए यदि आप मैडिटेशन से सौ प्रतिसत रिजल्ट पाना चाहते है तो सभी नशीले पदार्थ का सेवन बंद करना होगा , समय का पाबंद , लालच से दूर , लालसा , बुरी आदत में सुधार अदि को ठीक करना बहुत जरुरी हैं ।

  • ध्यान लगाते समय अपने आप को कंट्रोल रखें अचानक से अपने सांस को कम या तेज करने से बचे ।
  • मैडिटेशन के वक़्त हमेशा ढीले कपडे पहने
  • ध्यान करने का सही समय सोने से पहले या फिर सूर्योदय से पहले करने का प्रयाश करे
  • ध्यान अचानक से समाप्त नहीं करे बल्कि धीर – धीर सामान्य अवस्था में आने का आदत डाले
  • मैडिटेशन के वक़्त किसी संगबधित फूल या अगबत्ती का प्रयोग कर सकते हैं
  • ध्यान के समय आपका पेट खाली रहता है तो बढ़िया हैं ।
  • meditation के वक़्त अपने चहरे पर मुस्कराहट बनाने के प्रयाश करे इससे आपको बढ़िया महशुस होगा
  • ध्यान के समय सिन्हा बाहर , रीढ़ की हड्डी सीधी तथा कन्धा तना होना चाहिए ।

निष्कर्ष(meditation guide in hindi-meditation in hindi-मेडिटेशन के लाभ)

उम्मीद है आपको मेरा यह लेख meditation kaise karen बहुत पसंद आया होगा जिसमे मैंने ध्यान लगाने से जुडी सारी जानकारी को आपके साथ साँझा किया हैं यदि आपके कोई सवाल है तो कमेंट में जरूर पूछे जिसका जल्द से जल्द उत्तर देने के प्रयाश किये जायेंगे धन्यवाद ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.