ug ka full form-ug full form in hindi-ug meaning in hindi

ug ka full form-ug full form in hindi-ug meaning in hindi

दोस्तों आज हम ug full form के बारे में जानने वाले हैं और साथ में इसकी पूरी डिटेल के बारे में भी बात करेंगे ताकि आपको समझने में कोई परेशानी ना हों लेकिन एक बात आपको बता दूँ की यह education से जुड़ा हुआ कोर्स हैं ।

what is ug- ug क्या हैं 

under graduate होता हैं और जो छात्र अपने उम्र के अनुसार जब 10 या 12 क्लास को पास करने के करीब होते हैं तब उन्हें आगे की पढ़ाई जारी रखने इच्छा बानी रहती यही या फिर वे जॉब के तलाश में भी होते हैं ।

लेकिन कुछ स्टूडेंट ऐसे भी हैं जो जॉब के साथ पढ़ाई भी जारी रखते हैं और इसी के लिए वे graduate करने के बारे में सोचते हैं । वैसे तो इसमें बहुत कम जॉब के विकल्प होते हैं ।

यदि अपने किसी बढ़िया यूनिवर्सिटी से स्नातक का कोर्स किया है तो आपक जॉब भी ऑफर हो सकते हैं और जब कोई स्टूडेंट B.com / BBA / B.A / BSC / BCA / B.Tech/ BE/ BESc/ BSE/ BASc/ B.Tech आदि के कोर्स को पूरा करता है

तो वह ग्रेजुएट कहलाता है लेकिन जब यही पढाई किसी स्टूडेंट ने पूरा नहीं किया है या उसका अभी पढ़ाई कर रहा होता है तो उसे under graduate के नाम से जानते हैं । उम्मीद है ug kya hota hai अभी तक समझ आ गया होगा परन्तु अभी भी बहुत कुछ जानने के लिए इस लेख को पूरा कजरूर पढ़े ।

ug = under graduate

ug = सनातक के अंदर 

यूजी के लिए योग्यता – (ug ka full form-ug full form in hindi-ug meaning in hindi)

आज के समय में भारत में ग्रेजुएशन को मुख्य रूप से दो चरणों में बाँट दिया गया हैं जिसमे पहला नाम pg यानी की पोस्ट ग्रेजुएट और दूसरा नाम ug यानी की अंडर ग्रेजुएट के नाम से जानते हैं ।

यह दोनों नाम सुंस्ने में थोड़ा लम्बे लगते हैं इसलिए इस नाम को आज का समय में लोग ug एवं pg के नाम से बुलाते हैं और यह काफी प्रचलित भी हो चूका है इसलिए आप भी इसे इसी नाम से सबको बता सकते हैं ।

वैसे तो सभी को मालूम है की 12 क्लास के बाद ug का कोर्स शुरू हो जाता हैं और ug के समाप्त होने के बाद pg चालू हो जाता हैं । ug में मुख्य रूप से अलग – अलग कोर्स दिए जाते है जिसे आप अपने सुविधा अनुसार चुन सकते हैं जो 3 साल का होता हैं और इन्ही अलग – अलग कोर्स को बैचलर डिग्री के नाम से जाना जाता हैं । जबकि pg को मास्टर डिग्री कहा जाता हैं ।

जैसा की मैंने पहले बता दिया है की यह कोर्स 3 साल का होता है जिसमे  मुख्यतः

  • B . COM
  • B Sc
  • B A

स्टूडेंट को इन कोर्स करने के लिए 12 वी पास होना जरुरी हैं तःथा ug में चार सब्जेक्ट पढ़ने होते हैं और जिन इसे में आपके मार्क्स अच्छे है या फिर आप अपने पसंद के कोई सब्जेक्ट चुनकर इस कोर्स को 3 साल में पूरा कर सकते हैं जिसके बाद आपको graduate की डिग्री मिल जाती हैं ।

बेस्ट कॉलेज ug के लिए 

जब भी कोई स्टूडेंट 12 क्लास पास करता है तो उसके सामने सबसे बड़ी समस्या किस कॉलेज में दाख़िला लेने की होती हैं और यही परेशानी उसे कंफ्यूज कर देती हैं लेकिन आप किसी बढ़िया कॉलेज से ug करना चाहते है तो उसकी लिस्ट निचे दी गयी है ।

  1. लेडी श्री राम कॉलेज फॉर वोमेन / Lady Shri RAM college  for women,University of Delhi
  2. St.Stephen’s  कॉलेज / St.Stephen’s college, University of Delhi
  3. St. Xavier’s  कॉलेज   / St. Xavier’s college Kolkata
  4. मद्रास क्रिस्चियन कॉलेज  / Madras Christian college
  5. यूनिवर्सिटी  कॉलेज / University college , Thiruvananthapuram
  6. फेर्गुसन कॉलेज / Ferguson college , Pune
  7. प्रेसीडेंसी कॉलेज / Presidency college , Chennai
  8. गवर्नमेंट होम साइंस  कॉलेज / Government Home Science college ,Chandigarh
  9. रामकृष्ण मिशन  विद्यामंदिर / Ramakrishna Mission Vidyamandira,Howard
  10. दीन  डे – लेविस  उपाध्याय  कॉलेज / Deen Day-Lewis Upadhyaya college ,New Delhi

ug करने के बाद job के अवसर 

अगर आप under graduate कर लेते है तो आपको सभी competetive exam देने योग्य मान लिया जाता हैं लेकिन यदि आप pg करते है तो इन दोनों में मिलने वाला एक ही तरह का जॉब में pg में सबसे ज्यादा वेतन दिया जाता हैं ।

ug करने के फायदे ,

  1. अपने एजुकेशन को एक नए उचाई पर ले जाना ।
  2. अपना जॉब प्रोफाइल भी बदल सकते हैं ।
  3. आपकी स्किल किसी ख़ास सौबजेक्ट में डेवेलोप हो जाती हैं ।
  4. किसी गोर्व्मेंट जॉब की तयारी करने में आसानी होती हैं ।
  5. बहुत सारे प्राइवेट जोग आपको असानीस से मिल सकती हैं ।

तो दोस्तों इस तरह आप आपने पढ़ाई को 12 के बाद जारी रख सकते हैं लेकिन आप pg भी कर लेते है तो आपको बहुत ज्यादा बेनिफिट्स मिल जाता हैं इसलिए इसे भी पूरा करने के प्रयाश जरूर करे ।

ug और pg में क्या अंतर हैं ?

यूजी  में दाखिला लेने के लिए हमे 12 वी पास के प्रमाण पात्र देने होते हैं जबकि pg के लिए ug कोर्स करना बेहद जरुरी हैं तभी आप पग कोर्स करने के बारे में सोचा सकते हैं ।

ug में मिलनेवाला जॉब बहुत कम होने के साथ उसकी वेतन भी कम होती हैं जबकि pg में आपको बहुत सारे जॉब के ऑफर मिल जाते हैं और साथ में उसकी वेतन भी ज्यादा रहती हैं ।

जो स्टूडेंट ug में दाखिला लेते है और उसमे पास होने का बाद उसे पोस्ट ग्रेजुएट कहते हैं जबकि pg के करने के बाद मास्टर डिग्री कहा जाता है जिसमे M.com, MA, M.sc को दो साल और पढ़कर पुरे किया जा सकता हैं ।

ug के मुक़ाबले pg  में मिलने वाले जॉब्स ,

  • बैंकिंग क्षेत्र 

यदि आपने बैंकिंग या फाइनेंस से जुड़े कोई कोर्स को पग कम्पलीट की है जाइए M . com ., MBA किया है तो आप बड़े आसानी से बैंकिंग क्षेत्र में  ब्रांच मैनेजर , कैशियर , बैंक clerk, लोन मैनेजर, ऑपरेशन मैनेजर आदि पदों के लिए आवेदन दे सकते हैं

  • IT क्षेत्र 

यदि आपने it यानी information technologies से कोई कोर्स पूरा किया है तो आप बड़े आसानी से सॉफ्टवेयर इंजीनियर, प्रोडक्ट मैनेजर, सॉफ्टवेयर डेवलपर आदि के लिए अप्लाई कर सकते हैं और यह क्षेत्र बहुत तेजी से ग्रो कर रहा हैं इसलिए इसमें रूचि है तो जरूर कम्पलीट करे ।

  • डिजिटल मार्केटिंग

यह कोर्स भी आज के समय में बहुत चर्चित और तेजी के साथ ग्रो करने वाला कोर्स हैं जिसमे आप अपना भविस्य बना सकते हैं और  आपको बता दू की इसमें अनगिनत फील्ड हैं जिसमे कुछ नाम इस तरह हैं – SEO manager, ईमेल मार्केटिंग, digital manager, मार्केटिंग मैनेजर आदि ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.